लोगों के आने जाने की जगह तो है नहीं, ऊपर से रोड पर ही सब्जी मंडी! चित्रकूट जिले राजापुर कस्बे की बात

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, कस्बा राजापुर सड़क के चहल पहल अउर वाहन के आवै जाये के बीच पचास साल से सब्जी मण्डी लागत हवै। जेहिसे बाजार मा जघा बहुतै कम होइ जात हवै।अउर जाम लाग जात हवै यहिसे आये दिन घटना होत रहत हवै। रोज लगभग 10 हजार मड़ई हिंया से निकलत हवै। जाम के कारन हिंया के मड़ईन का बहुतै परेशानी होत हवै।यहिके खातिर उंई कइयौ दरकी विभाग का दरखास दिहिन हवै। पै विभाग अबै तक या समस्या का कउनौ हल नहीं निकारिस आय।जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, कस्बा राजापुर सड़क के चहल पहल अउर वाहन के आवै जाये के बीच पचास साल से सब्जी मण्डी लागत हवै। जेहिसे बाजार मा जघा बहुतै कम होइ जात हवै।अउर जाम लाग जात हवै यहिसे आये दिन घटना होत रहत हवै। रोज लगभग 10 हजार मड़ई हिंया से निकलत हवै। जाम के कारन हिंया के मड़ईन का बहुतै परेशानी होत हवै।यहिके खातिर उंई कइयौ दरकी विभाग का दरखास दिहिन हवै। पै विभाग अबै तक या समस्या का कउनौ हल नहीं निकारिस आय। दुर्गा प्रसाद निषाद बताइस कि मोर उमर 40 साल हवै वहिके पहिले से सड़क के किनारे सब्जी लागत आय। पै अबै तक या समस्या खतम नहीं भे आय।  सब्जी दुकानदार दुर्गेश, संतोष अउर राममिलन का कहब हवै कि रास्ता के किनारे सब्जी मण्डी होय से व्यापारिन का बहुतै परेशानी होत हवै। काहे से सड़क मा अन्ना जानवर घूमत रहत हवैं अउर वाहन भी आवत जात हवै। यहिसे जघा के कमी पड़ जात हवै जानवर के मारे से अबै तक कइयौ मड़इन के जान तक चली गे हवै। ग्राहक  विकास बताइस कि गाड़ी के आवै जाये अउर जानवरन के कारन सड़क मा जाम लाग जात हवै जेहिसे हम सब्जी नहीं खरीद पावत आहीं।  इ. ओ. राजापुर बेनी प्रसाद गुप्ता का कहब हवै तौ मड़ई कहत हवै कि गंदगी बढ़ी अउर बीमारी फइली। सब्जी मण्डी बनावै खातिर जघा ढूढी जात हवै।

रिपोर्टर- सहोद्रा

07/06/2017 को प्रकाशित