लाहौर हमलाः ईसाई थे मुख्य निशाना

lahoreपाकिस्तान के लाहौर में एक बच्चों के पार्क के बाहर हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 72 लोगों की मौत हो गई। शहर के गुलशन-ए-इकबाल पार्क के बाहर हुए इस जबरदस्त विस्फोट में 300 से अधिक लोग घायल हो गए हैं।
लाहौर के डीआईजी हैदर अशरफ ने कहा, ‘यह शक्तिशाली धमाका था। यह आशंका है कि आत्मघाती हमलावर ने पार्क के गेट पर खुद को उड़ा लिया।’ हमलावर 20 साल का एक युवक बताया जा रहा है।
रविवार शाम को शहर के पॉश रिहायशी इलाके में स्थित गुलशन-ए-इकबाल पार्क में काफी भीड़ थी। पार्क में खून ही खून और शव बिखरे पड़े थे। घायलों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हैं। घायल लोगों को रिक्शा और टैक्सी के जरिये अस्पताल पहुंचाया गया।
तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के एक दल जमात-उल-अहरार ने इस हमले की जिम्मेदारी ली और कहा, लाहौर के एक लोकप्रिय पार्क में कल किए गए भीषण आत्मघाती हमले का निशाना ईस्टर मना रहे ईसाई थे। इस हमले में मरने वालों की संख्या 80 हो गई है जिनमें 29 बच्चे शामिल हैं।
पीएम नरेन्द्र मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को फोन करके आतंकवादी हमले के पीडि़तों के लिए शोक जताया’ है।