लव की ‘एक्स्ट्रा-क्लास’

valentine_candy_box_w_roseआपके मन की उलझनों को दूर करने के लिए आ गया है ‘लव-गुरु’। लव-गुरु से सवाल पूछने के लिए आपके कई खत मिले। जिनमें से दो सवालों को हमने शामिल किया है। आइये जानते हैं उनके जवाब…
सवाल:– मैं एक बैंक में काम करता हूँ। अक्सर मेरे बैंक में एक लड़की आती है वो जब भी आती है तब मुझे बड़े प्यार से देख कर मुस्कुरा देती है। ऐसा लगता है कि वो मेरे लिए ही आती है मैं भी उसे देखकर खुश हो जाता हूँ। सोचता हूँ किसी दिन वो और मैं बैठकर बातें कर लें। मुझे लगने लगा कि शायद मैं उससे प्यार करने लगा हूँ लेकिन मुझे समझ नही आ रहा है कि क्या करूँ? डरता भी हूँ कि कहीं वो कुछ गलत न समझ लें और मेरी शिकायत बैंक में कर दे।
-राहुल
जवाब:- किसी को पसंद करने में कोई बुराई नहीं, न ही एकतरफा प्रेम में। लेकिन अच्छा होगा कि आप अपनी भावनाओं को छुपायें नहीं बल्कि उस लड़की को बताएं। अब जब भी वो आएं तब आप उनकी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाएं। कुछ दिनों तक एक-दूसरे को जाने, समझें। यदि तब भी आपको लगे कि आप उनसे प्यार करने लगे हैं तो बिना देर किये अपने दिल की बात उन्हें बता दें।लेकिन सबसे पहले आप उसे यह जरुर साफ़ कर दें कि आपका इरादा परेशान करने का नहीं है ताकि वो भी आप पर विश्वास कर सकें।
सवाल:- मैं अपने कॉलेज के एक लड़के से प्यार करने लगी हूँ। अक्सर उसको देख कर, उससे मिल कर, उसके साथ समय बिता कर खुश होती हूँ लेकिन अभी तक उसे कह नहीं पायी हूँ। मैंने सुना है कि लड़कियां कभी पहल नहीं करती है, सोच रही हूँ कि वो समझ जाये तो खुद से कह दे। लेकिन अगर उसने नहीं कहा तो? मैं उलझन में हूँ, क्या उसको कह देना सही होगा?
-चन्दा
जवाब:- चंदा यह कहीं नहीं लिखा कि लड़का ही प्यार का इजहार करे। आपको उससे प्यार है तो सीधे उसको बोल दीजिये। आप इक्कसवीं सदी की लड़की हैं, प्यार करती हैं तो ये उम्मीद क्यों रखती हैं कि वो कहेगा। आप खुद कहें और इस बात के लिए तैयार रहें कि वो ना भी कह सकता है। लेकिन यह ध्यान रखियेगा कि उसकी ना से आपका जीवन प्रभावित नहीं होना चाहिये।आप उसकी ना का सम्मान भी करें और अपनी दोस्ती में खुश रहें।