ललितपुर जिले के मडावरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नहीं है कोई उचित सुविधा।

जिला ललितपुर, गांव मड़वरा के आदमियन को केबो हे के इते के स्वास्थ केंद्र में कछु भी सुविधा नईया न तो जाबे की न आबे कछु भी सुविधा नईया। अगर कोऊ के डिलेवरी होने तो लुआबे के लाने एम्बुलेंस बुलाओ तो बो दो सौ रुपाईया लेत।
नई तो बो खुद अपने आप अपनों बाहन करके ले जात। और जो कछु इंजेक्शन लगत और दवाई देत सो सौ रुपाईया देने परत। जबकि इते के डॉक्टर को केबो हे के स्वास्थ केंद्र में आदमियन को सब सुविधा दई जा रयी। केऊ गांव के आदमी आत इते के स्वास्थ केंद्र में डिलेवरी और इलाज कराबे के लाने।
रोशनी ने बताई के अगर रात में कोऊ की डिलेवरी आत और वो रात में ही हो जात अगर। तो बाकी रात में छुट्टी कर देत भगा देत। और उते के जो डिलेवरी के पलंग हे बे कबहु कमरा से नई निकारती। और डिलेवरी भी नीचे लिटा के करती जो। उते दवाई करती बे सौ रुपईया से कम नई लेती। गीता ने बताई के कछु भी सुबिधा नईया। अगर एम्बुलेंस को बुलाओ तो दो सौ रुपईया लेत और जब छोड़बे जात तब लेत दो सौ रुपईया। जानकीबाई ने बताई के हम इते पीलिया की दवाई करवाबे आय हमे आठ महीना हो गये।
डॉक्टर रामबिहारी ने बताई के जो डिलेवरी गांव से आती तो बे ओरे कत के हमाई छुट्टी कर दो। और जबरजस्ती छुट्टी करवा ले जात। और जो डिलेवरी वाली रुकती हे बिने सब सुविधा मिलत।
उने खाना में दूध दलिया दाल चावल देत। और सब सुविधा देत जो स्वास्थ केंद्र में हे।

रिपोर्टर- सुषमा

01/11/2016 को प्रकाशित