ललितपुर जिले के ब्लॉक बिरधा, यहाँ 500 परिवार करते है पान की खेती

खई के पान बनारस वाला खुल जायें बंद अक्ल का ताला। पान का नाम सुनते ही यह गाना याद आनें लगता है।पान के शौकीन लोग बड़े चाव के साथ पान खाते हैं। कुछ लोग खाना खानें के बाद पान खाना पसंद करते हैं किन्तु पान की खेती करना बहुत मुश्किल है।
जिला ललितपुर, ब्लाक बिरधा के नगर पंचायत पाली पान की खेती के लिए मशहूर है। यहां पांच सौ परिवार पान की खेती करते हैं।
यहां रहने वाली मुन्नी चौरसिया पन्द्रह साल से पान की खेती करती है। उनका कहना है कि गर्मी के मौसम में पान की बेल से बेल काटी जाती है फिर बुआई की जाती है। घड़े में पानी लेकर थोड़ा थोड़ा डालकर पान की सिंचाई की जाती है।पान की खेती करने में बहुत मेहनत है। समय समय पर दवा भी डाली जाती है जिससे पान की खेती में कीड़े न हो। दुकानदार विष्णु का कहना है कि पीलीभीत, मेरठ, सहारनपुर,बरेली सब जगह हमारा पान जाता है। दो सौ से लेकर तीन सौ रूपये में दो सौ पान मिलते हैं।
रिपोर्टर-सुषमा

Published on Dec 5, 2017