ललितपुर जिले के ऐरावनी गाँव के लगभग 33 वृद्धों का यही हाल

आंनलाइन कराया प्रधान को भी कई बार बोला लेकिन अब तक वृद्धा पेंशन नहीं मिल रही हैं। इस कारण इस गांव के लगभग तैतिस बूढ़े लोग झाड़ू बना के अपना पेट पाल रहे हैं। यह कहना है ललितपुर के ऐरावनी गांव के बूढ़े लोगों का।
नन्हीं बहु का कहना है कि हमें कभी पेंशन नहीं मिली है। प्रधान से दसों बार कह चुके है लेकिन प्रधान नहीं सुनता है। मोनी बहु का कहना है कि ललितपुर में आंनलाइन कराया था तब भी हमें वृद्धा पेंशन नहीं मिलती है। सुमित्रा ने बताया कि दो बार आंनलाइन कराया है लेकिन सुनवाई नहीं होती है। सुम्मे का कहना है कि प्रधान से कई बार पेंशन के लिए है। झुलू का कहना है कि मेरी उम्र साठ साल से ज्यादा है प्रधान पेंशन के लिए कुछ नहीं करता है। प्रधान जयपाल सिंह राजपूत का कहना है कि कुछ लोगों को पेंशन मिलती है जिन लोगो की बाकी है इस महीनें से मिलनें लगेगी।
समाज कल्याण अधिकारी का कहना है कि जाति प्रमाणपत्र, आय प्रमाणपत्र परिवार, रजिस्टर की नकल, आधार कार्ड, पहचान पत्र, बैंक की पासबुक की फोटो कापी लगा कर आंनलाइन करना होगा, फिर जांच होगी। उसके बाद लोगो को पेंशन मिलेगी।
रिपोर्टर-कल्पना

Published on Dec 18, 2017