ललितपुर के सिलावन गाँव में बढ़ रहा चिकनगुनिया का प्रकोप

जिला ललितपुर, ब्लाक महरौनी गांव सिलावन इते बुखार, खांसी, जुकाम, मलेरिया, मोतीझरा, चिकिनगुनिया, जेसी बीमारी से आदमी भोत परेशान हे ।और उचित सरकारी स्वास्थ सेवा उपलब्ध न होबे के मारे आदमी प्राइवेट डॉक्टर से इलाज कराबे के लाने मजबूर हे ।काय के अगर आदमी प्राइवेट डॉक्टर से इलाज नई करा हे तो का जे हे ।सरकारी स्वास्थ केंद्र से कोनऊ सुविधा हे नईया
सीता राम ने बताई के हमाय ते तो सब आदमी बीमार हते सबको इलाज हमने प्राइवेट डॉक्टर नो करवाओ उते से आराम भी मिल जात ।उमेश ने बताई के हमाई उंगलिया दर्द हो रही घूटे दर्द हो रए और गरे में भी दर्द हे।हमने प्राइवेट डॉक्टर से लायी ती दवाई सो सही हो गये ते लेकिन फिर से दर्द होन लगत कबहु कबहु ।
उमा ने बताई के एक महीना से बीमार डरे हम तो गरम आंग रत कसके पेशाब भी गरम आत कसके न नींद आत न भूख लगत न अब शरीर में जान बची ।
ललितपुर की भी दवाई खाई और इते के डॉक्टर की भी शीशी धरी पीबे के लाने डॉक्टर ने खून की जांच करवाई ती सो कह रए ते के तुमाओ मोतीझरा बिगर गओ । गुलाब ने बताई के पांच छह दिन बुखार हे घूटे दर्द हो रए इतेई से लई ती दवाई प्राइवेट डॉक्टर से ।
कलि बाई ने बताई के चक्कर आत आंखन से नई दिखात हमने इलाज भी भोत करवाओ हमने अपनों इलाज इते करवाओ गांव में और ललितपुर में करवाओ प्राइवेट डॉक्टर के ते भी करवाओ लेकिन कछु आराम नई मिल रओ बस जब देखो तब बीमार डरे रत ।
प्राइवेट डॉक्टर प्रवीण राय ने बताई के हमाय ते मलेरिया, मोतीझरा, जुकाम, खांसी, बुखार, और चिकिनगुनिया के मरीज हे ।गांव में तीन चार डॉक्टर हे जी की जोन डॉक्टर को दिखाबे को मन होत सो उते चलो जात ।और कोऊ कोऊ झांसी ललितपुर भी जात इलाज कराबे के लाने ।काय के आदमी परेशान हे सो सब जघा जा रए के कितऊ न कितऊ से तो ठीक हो जाबे ।और काम को मौका चलो आ रओ ।

रिपोर्टर- राजकुमारी

21/10/2016 को प्रकाशित