लम्बी दूरी को कम कर देगा फैजाबाद जिले का तमसा नदी का पुल

फ़ैजाबाद जिले के ब्लॉक बीकापुर क्षेत्र की भदरसा ग्राम पंचायत के रसिया माफ़ी गाँव में तमसा नदी पर पुल निर्माण नहीं होने से लगभग 3 हजार लोगों को आने जाने में परेशानी होती है. पुल के अभाव  में लोगों को 7 किलोमीटर की दुरी तय करनी पड़ती है. जबकि पुल बन जाने से ये दुरी घटकर 3 किलोमीटर हो जाएगी.

खबर लहरिया की रिपोर्टर कुमकुम यादव गाँव में पहुंच लोगों से इस पुल के होने और होने पर बनी विपरीत परिस्थतियों के बारे में जानकारी ले रही हैं.

गाँवनिवासी दीनानाथ पांडेय कहते हैं कि तमसा नदी में नाव के जरिये लोग सफर तय करते थे लेकिन अब नाले की तरह इसकी सफाई करदी गई है जिसके बाद इसमें नाव चलाना संभव नहीं रहा है. अब गाँव के लोग घूम कर करीब 7 किलोमीटर का सफर तय करके दूसरी तरफ पहुंचते हैं. वहीँ, पास में उदय महाविद्यालय भी है जहाँ आने वाले बच्चों को बहुत दिक्कत होती है. उन्हें 15 किलोमीटर का सफर तय कर यहाँ आना पड़ता है. यहाँ का रास्ता इतना उबड़खाबड़ है कि गाड़ी आदि से आना भी आसान नहीं है. यदि ये पुल बन जाता है तो आने जाने की सुविधा हो जाएगी और बच्चों को सबसे बड़ी राहत मिलेगी.

राजकुमार ने कहा, हम अपनी नाव लगाते हैं यहाँ लेकिन अब नाव से आना जाना भी दूभर हो गया है. हम चाहते हैं यहाँ जल्द से जल्द पुल बने ताकि रोज की परेशानी कम हो जाये.

वहीँ, गाँव रूसिया माफ़ी के मोहन कुमार ने कहा, लोग अक्सर यहाँ के रास्तों से गिर भी जाते हैं उन्हें गंभीर चोटें भी आती हैं.  रोजाना तीन से चार हजार लोग यहाँ आतेजाते है, पुल बनना बेहद जरूरी हो गया है.  

छात्रा नेहा ने कहा, हमें रोजाना 7 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है जबकि हम मात्र तीन किलोमीटर की दूरी तय कर विद्यालय सकते हैं.

फ़ैजाबाद के सांसद लल्लू सिंह ने कहा, हमने पुल के लिए मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री जी को बोला हुआ है. बस हमें इंतज़ार है कि वहां से योजना पास हो जाये और यहाँ पुल बन जाये. हमें यकीन है कि हमारी मांग जल्द ही मानी जाएगी और तब सडक भी बनेगी और पुल भी बनेगा.

रिपोर्टर: सुनीता देवी और कुमकुम यादव 

Published on May 22, 2018