लघु सिचाई विभाग की उपेक्षा- महोबा के 42 किसान कर रहे हैं भारी संघर्ष

महोबा जिले के जैतपुर ब्लाक के बयालिस किसान बेहद परेशान हैं। 2011 में लघु सिंचाई विभाग के तहत किसानों ने कुंये खोदे थे। किसानों को विभाग की तरफ से मशीनें मिलनी थी, किन्तु अभी तक आश्वासन के सिवा कुछ नहीं मिला हैं। लघु सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता मनोज कुमार का कहना है कि जब विभाग से आदेश आयेगा तभी किसानों को मशीनें मिलेगी।
रतनेश का कहना है कि लघु सिंचाई विभाग ने इंजन देने को कहा था। इंजन 2013 में मिला था तो खराब हो गया था। इंजन खराब होने से खेतों में सिंचाई नहीं हो पाती है, जिससे अनाज नहीं पैदा होता है। हरिसिंह का कहना है कि हमें आशा थी कि मशीन मिल जायेगी किन्तु विभाग कहता है कि अभी बजट नहीं है। धरमदास ने बताया कि डी.एम, एस.डी.एम. और लघु सिंचाई विभाग को दरखास दे चुके है। कार्यवाही नहीं होगी तो किसान आत्महत्या करेगें। भगवानदास का कहना है कि विभाग में मशीन रखी है, अधिकार पत्र तैयार है, फिर भी मशीनें नहीं दी जाती हैं।

रिपोर्टर- श्यामकली

published on 31 jan, 2018