लखनऊ की सड़कों पर आलू किसने फेंके?

साभार: पिक्साबे

6 जनवरी को विधानसभा, सीएम आवास और राजभवन के बाहर सड़कों पर आलू फेंकने के मामले में पुलिस ने कन्नौज से सपा के दो नेताओं को गिरफ्तार किया है। यही दोनों नेता अखिलेश यादव के करीबी बताए जा रहे है। लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार ने शनिवार को आलू कांड पर खुलासा करते हुए बताया कि इस पूरे घटना में 6 लोग शामिल थे। इस घटना में किसान यूनियन के किसी नेता का हाथ नहीं था। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि इस घटना के पीछे सिर्फ सरकार को बदनाम करने की साजिश थी। आरोपियों ने भी कबूला कि उन लोगों ने आलू फेंका था। यह घटना साजिश की तरह की गई थी। इस घटना में संदीप कुक्कू चौहान,दीपेंद्र चौहान,प्रदीप सिंह बंगाली ,बड़े कुमार समेत 6 लोग शामिल थे। बता दें, कि 8 गाड़ियों में आलू भरकर विधानसभा, सीएम आवास और राजभवन के बाहर फेंका था। इस मामले में पुलिस ने पहले अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। वहीं पुलिस की जांच में सीसीटीवी तस्वीर में पुलिस ने कुछ लोगों को चिन्हित कर लिया था। इसी कड़ी में पुलिस ने कन्नौज में छापा मारकर सपा का कार्यकर्ता अंकित चौहान और लोडर गाड़ी के ड्राइवर प्रदीप को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। और साथ में ये भी जान ले, की इस केस को सुलझाने में यूपी पुलिस ने सीसीटीवी कैमरा से फुटेज का उपयोग किया, और साथ ही हज़ारों स्मार्टफोन को टैप भी किया गया।