रूपिया न दे मा सरिया से मारिस

gaon - maarpeetजिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा अतर्रा, मोहल्ला गंगेही तालाब। हेंया के गंगा देवी का कहब है कि वहिका मनसवा सौ रूपिया न दे मा 6 मार्च 2013 का सरियन से खूबै मारिस है। गंगा देवी के शादी छह साल पहिले भे रहै। वा मोहिका परेशान करत है। यहिके रपट 8 मार्च 2013 का अतर्रा थाना मा लिखाई गे है।
गंगा का बाप गुलाब चन्द्र रो-रो के बतावत रहै कि मोर बिटिया गांव बसरेही मा सफाई कर्मी के नौकरी करत रही है। वहिके छोट छोट चार बच्चा हैं। मोर दामाद दिन भर घर मा बइठ रहत है। वा कउनौ काम नहीं करत आय। बिटिया के कमाई से शराब पियै का रूपिया मांगत है। 6 मार्च का बिटिया शराब पियै का रूपिया नहीं दिहिस तौ सरिया से मार के पसुरी अउर करिहा तोड़ दिहिस है। जइसे हम पहुंचेन तौ गांव से भाग गा है। अतर्रा थाना रपट मा लिखवा के कारवाही के मांग कीन हवैं।
गंगा कहिस मोर सास सेमिया ससुर मूल चन्द्र अउर जेठ राकेश सबै घर मा रहे हवैं। मोर मनसवा मोहिका मारत रहैं, पै कउनौ नहीं बचाइन आय। पुलिस अउर मोर बाप अतर्रा सरकारी अस्पताल मा दवाई खातिर लई गे हवैं। होंआ से बांदा खातिर डाक्टर रिफर कई दिहिस हैं। सास सेमिया का कहब है कि हमका कउनौ पता नहीं रहा आय की कसत लड़ाई भे है। गंगा हमसे अलग रही है। दुई दिन से वहिके घर मा ताला लाग है। छोट बच्चा बाहर फिरत हवैं।
अतर्रा थाना का मुंशी राम प्रताप मिश्रा का कहब है कि दूनौ मेहरिया मनसवन का झगड़ा आय। रपट लिख गे है। धारा 107,116 अउर 151 मा मुकदमा लिखा गा है। अगर वहिके हड्डी मा चोट आई होई तौ जांच खातिर बांदा भेजा गा है। अगर वहिके फेक्चर भा होई तौ मनसवा रमेश का गिरफ्तार कर के जेल भेजा जईं।