रूपईया ला परेशान महिला

 विधवा रागनी देवी अउर ममता देवी
विधवा रागनी देवी अउर ममता देवी

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड, गांव रीगा इमली बाजार। उहां वार्ड नम्बर दस में दु महिला के पारिवारिक लाभ न मिलल हई। जबकि उनका विधवा भेला एक साल हो गेलई।
उहां के ममता देवी, रागनी देवी, कहलथिन कि हमर सब के पति बिमारी के कारण मर गेलथिन। हमरा सब के पास छोट-छोट बच्चा हई। परिवार चलावे में बड़ा दिक्कत होईय। ममता देवी कहलथिन कि हमरा त छौ बच्चा हई जेईमें पांच गो लड़की हई। सब छोट-छोट हई। दु गो बेटी के दोसरा के घर में चैका बर्तन करे ला लगयले छी। हमहु उहे काम कर के अपन अउर बच्चा सब के पालन पोषण करई छी। कागज सब जमा भेल हई। लेकिन कोनो लाभ न मिलल।
मुखिया उषा शर्मा के पति सुनील शर्मा कहलथिन कि अब त आवेदन सब आर.टी.पी.एस. काउन्टर पर जमा होई छई। आवेदन जमा करथिन तब पारिवारिक लाभ मिलतई। ऐई के रूपईया आवे में समय भी लगई छई।
प्रखण्ड लीपी मोती पाठक कहलथिन कि इहां से आवेदन अनुमंडल में जाई छई तब उहां से अबई छई त मिल जतई।