रूपईया अयला के बाद होई छई वितरण

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड, गांव कुशमारी। उहां वार्ड नम्बर चैदह के रानी कुमारी के शादी भेला लगभग दु साल हो गेलई। लेकिन आई ले कन्या विवाह के रूपईया न मिलल हई।
रानी कुमारी के माई देव कुमारी देवी कहलथिन कि हम अपना बेटी के शादी कार्तिक महिना में कईली। अब इ कार्तिक अतई त तीन कार्तिक हो जतई। लेकिन आई ले कन्या विवाह के रूपईया न मिलल। शादी के कुछे दिन के बाद कागज बना के पंचायत में जमा क देली। रसीद भी मिलल हई लेकिन अभी ले रूपईया के पते न हई। पंचायत, प्रखण्ड में जाई छी त कहई छथिन कि रूपईया मिलत। लेकिन मिलई छई कहां? हम सब मजदूर आदमी छी कर्जा महाजन लेके बेटी के शादी कईली। कहली कि कन्या विवाह वाला रूपईया मिलत त कुछ त बच्ची के होयत। लेकिन अभी ले रूपईया के रास्ता देखईले।
पंचायत सचिव विनोद राम कहलथिन कि हम सब त सूची भेज देई छी प्रखण्ड में लेकिन रूपईया देरी से पंचायत में अबई छई।
प्रखण्ड किरानी प्रकास झा कहलथिन कि जेना-जेना जिला से रूपईया अबई छई ओई सही वितरण होई छई। अभी डेढ़ सौ आदमी के रूपईया आयल हई। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के दस्कत न भेल हई कारण कि तुरंते-तुरंते प्रखण्ड विकास पदाधिकारी बदली भेलथिन। अब जे अलथिन उनकर दस्कत कयला के बाद वितरण कयल जतई।