रुपिया न मिलै,रुके घर खर्च

Exif_JPEG_420जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, ग्राम पंचायत गुढ़ा कला, मजरा, रमपुरवा। या गांव के लोग महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारन्टी योजना (मनरेगा) के तहत पिछले साल 2015 मा मेड़बंदी, समतली करण अउर संपर्क मार्ग मा काम करिन रहैं। रुपिया अबै तक मजदूरन का नहीं मिला आय। यहिसे उंई 7 जून का नरैनी तहसील मा कमिश्नर एल. वेंकटेश्वर लू का दरखास दइके मजदूरी के रुपिया के मांग करिन हैं। जबैकि सरकारी नियम के हिसाब से हर सात दिन मा मजदूरन का हिसाब होय का चाही।
नदकिशोर, रादयाल, रामेश अउर संता का कहब है कि हम लोग गरीब मजदूर इनतान के धूप लुवार मा खून पसीना एक कइके काम के सहारे आपन परिवार पालित हन। या साल सूखा के कारन किसानी भी ठप्प परी है। जेहिसे हम लोगन के घरन मा खाय तक का निहाय। फरुहा कुदारी के सहारे रहित हन, पै मजदूरी समय से नहीं मिली आय। रामचन्द अउर कमलेश कहत हैं कि हम लोग भोला पुत्र मुड़िया के खेत मा समतलीकरण कीन है संतोष पुत्र मीहीलाल के खेत मा अउर 2014-15 मा चेक डैम नाला का काम कीन हैं। इनतान से लगभग 10 अलग अलग जघा मा काम कीन हैं। जेहिमा पचासन मजदूरन का रुपिया नहीं मिला आय। यहिसे बी.डी.ओ. अउर तहसील के चक्कर लगावत हन।
कमिश्नर एल.वेंकटेश्वर लू नरैनी बी.डी.ओ. का दरखास दइके उनके कीन गे काम के मजदूरी का भुगतान जल्दी करावैं का कहिन हैं।