रिसौरा के शिवप्रसाद का आरोप नरैनी तहसील मा नियम का नहीं होत पालन

जिला बांदा, ब्लाक महुआ गांव रिसौरा। हेंया के शिवप्रसाद का आरोप है कि नरैनी तहसील मा बाबू अउर लेखपाल अपने ही ब्लाक अउर तहसील स्तर के ही हैं। जउन काम करत हैं। या नियम के खिलाफ है। मैं या बात के शिकायत 19 जनवरी का तहसील दिवस मा तहसीलदार से कीन हौं।
शिवप्रसाद तिवारी पूर्व सैनिक का कहब है कि हमरे गांव रिसौरा मा पनगरा गांव का शिवकुमार साहू लेखपाल है। वा आपन मनमानी का काम करत है। मड़इन का ग्राम समाज के जमीन मा अतिक्रमण करा देत है। जमीन के नाप मा रूपिया लेत है। काम के तहत भेदभाव अउर गांवदारी निभावत है। यहिनतान अउर भी कइयौ लेखपाल,बाबू अउर चपरासी हैं। अगर अपनी ही तहसील मा रहि के काम करैं का नियम है,तौ अउर लोगन का भी होय का चाही। यहिसे मैं जिला अधिकारी से लइके तहसील के अधिकारिन तक उन लोगन के या तहसील से हटावैं के मांग कीन हौख् पै कउनौ सुनाई निहाय।
नरैनी तहसीलदार गिरवर सिंह का कहब है कि या नियम मा है कि आपन ब्लाक का ही कउनौ करमचारी रही के काम नहीं कर सकत आय। तहसील का तौ कउनौ नियम निहाय न हमारी जानकारी मा अपने ही ब्लाक का कउनौ करमचारी काम करत आय। अगर कउनौ हेंया रहत भी होई तौ मकान लइके रहैं लाग होई, पै हेंया का मूल निवासी न होई। अगर इनतान का कउनौ काम करैं वाला करमचारी है, तौ वहिका हटावा जाय का चाही।