राबिया खातून कहिस-जमीन मा करिन कब्जा

chatrakoot darekapuriजिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, मुहल्ला द्वारिकापुरी। हिंया के राबिया खातून 17 नवंबर का कर्वी कोतवाली मा पैंतीस  फुट लम्बी अउर पैंतिस फुट चैड़ी जमीन मा कब्जा लें खातिर रपट लिखाइस। वहिके जमीन मा मोहम्मद रषीद उर्फ चीनी कब्जा कइ लिहिस। वा जमीन का चार साल पहिले केषव प्रसाद का बेंचिस केषव प्रसाद वा जमीन का एक साल पहिले हेमलता श्रीवास्तव का बेंच दिहिस। यहिसे राबिया खातून अपने जमीन मा कब्जा करै चाहत हवै।
राबिया खातून का कहब हवै कि मनसवा पप्पू उर्फ मजीद का मरे पन्द्रह साल होइगा। मनसवा के मरै  के बाद मैं जबलपुर मजूरी करै चली गें रहौं। मोहिका पता लाग कि मोर जमीन का मोहम्मद रषीद उर्फ चीनी केषव प्रसाद का तीन लाख साठ हजार रुपिया मा बेंच दिहिस। यहिसे मैं 25 मई 2014 का डी. एम. का दरखास दीने रहौं। डी. एम. आदेष करिन कि अपने जमीन मा रहौ। यहिके बादौ जमीन मा कब्जा नहीं मिला। मोहम्मद रशीद उर्फ चीनी वा जमीन का केषव प्रसाद का चार साल पहिले बेंच दिहिस।
मोहम्मद रषीद उर्फ चीनी कहिस कि सत्रह साल पहिले राबिया खातून के मनसवा पप्पू उर्फ मजीद से एक लाख साठ हजार रुपिया के जमीन खरीदे रहौं। अदालत से मोरे लगे रजिस्ट्री भी रही हवै। मैं चार साल पहिले केशव प्रसाद का जमीन बेंच दीने रहौं।
केशव प्रसाद कहिस कि मैं चार साल पहिले मोहम्मद रशीद उर्फ चीनी से जमीन खरीदे रहौं। दुइ साल पहिले हेमलता श्रीवास्तव का बेंच दीन गे रहै। अब राबिया खातून कहत हवै कि वा जमीन मोर आय। जबैकि मैं जमीन खरीदे रहौं। हेमलता श्रीवास्तव का कहब हवै कि मैं केषव प्रसाद से चार लाख साठ हजार रुपिया के जमीन खरीदे रहौं। अब राबिया खातून कहत हवै कि मोर जमीन आय। यहिसे राबिया खातून दरखास देत हवै। कर्वी कोतवाली के पुलिस वाले वीरेन्द्र त्रिपाठी कहिस कि सबहिन के लगे जमीन के कागज हवैं। यहिसे मजिस्ट्रेट के आदेश के बाद ही पता लागी अउर यहिके बाद पुलिस जमीन मा कब्जा देवा सकत हवै। लेखपाल फूलचंद्र पटेल कहिस कि यहिके बारे मा कउनौ जानकारी नहीं आय।