रमजान के दिनों में घाटी में सीजफायर की अपील को केंद्र ने स्वीकारा

साभार: विकिपीडिया

जम्मूकश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती द्वारा रमजान और अमरनाथ यात्रा के दौरान घाटी में एकतरफा सीजफायर की अपील को केंद्र सरकार ने सशर्त मंजूरी दे दी है।
महबूबा मुफ्ती द्वारा रमजान के दौरान सीजफायर की अपील पर केंद्र सरकार ने सुरक्षाबलों को घाटी में रमजान के दौरान किसी भी तरह का नया ऑपरेशन शुरू ना करने के निर्देश दिये हैं।
हालाँकि, केंद्र ने किसी आतंकी हमले की स्थिति में सुरक्षाबलों को आतंक के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने की छूट भी दी है।
रमजान के महीने की शुरुआत से पहले केंद्र के गृह मंत्रालय ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए कहा, ‘मुस्लिम समाज के लोगों को रमजान के दौरान शांति व्यवस्था में सहयोग देने के लिए, सरकार ने घाटी में सुरक्षाबलों को रमजान के दौरान कोई नया ऑपरेशन शुरू ना करने के निर्देश दिए हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने खुद भी जम्मूकश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती को भी इस संबंध में जानकारी दे दी है।
केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद जम्मूकश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी इस फैसले के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को धन्यवाद दिया है।
पीएम को धन्यवाद करते हुए महबूबा ने अपने ट्वीट में लिखा है,’मैं रमजान में सीजफायर के लिए केंद्र सरकार द्वारा लिए गए फैसले का स्वागत करती हूं। मैं इस फैसले के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को धन्यवाद करना चाहती हूं जिन्होंने निजी रूप से इस मामले में रुचि लेते हुए यह निर्णय कराया है। मैं उन राजनीतिक दलों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने सर्वदलीय बैठक में इस प्रस्ताव पर हमारा सहयोग किया था।