रपट लिखावैं के बाद भी नहीं भे सुनवाई

semradha gavnजिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव सेमरदहा। हिंया के कुलदीप का आरोप हवै कि मोर औरत शशि का 18 जनवरी का पड़ोस मा रहैं शिवगोपाल, विनोद राजगोपाल अउर अश्विनी मारिन हवैं। यहिके रपट बहिलपुरवा थाना मा लिखाइ गे, पै अबै तक कउनौ सुनवाई नहीं भे।

कुलदीप का कहब हवै कि 18 जनवरी का मोरे औरत शशि भइंस का चारा डारत रहै। वहै समय शिवगोपाल, विनोद, राजगोपाल अउर अश्विनी आय अउर गाली दें लाग। मोरे औरत शशि विरोध करिस तौ चारौं जन मिल के बंदूक के बंट लाठी अउर डंडा से मारिन हवैं। यहिसे शशि बेहोश होइगे तौ वहिका छोड़ के मोरे छोट बच्चन का मारिन हवैं। ऊपर से जान से मारैं के धमकी देत हवैं।        शिवगोपाल का कहब हवै कि हम निकरत रहेन तौ शशि पहिले से गाली दिहिस हवै। हम लोग चार जन रहे हन। उंई बारह लोग मिलके खुदै मारिन हवैं अउर हमरे खिलाफ थाना मा रपट लिखा दिहिन।
बहिलपुरवा थाना के बड़े दरोगा केशव प्रसाद दुबे कहिन कि शिवगोपाल, विनोद, अश्विनी अउर राजगोपाल के खिलाफ  अपराध संख्या 16/2015, धारा 323 (मारपीट), 504 (गाली गलौज) 506 (जान से मारैं के धमकी) 147 अउर 148(हथियार के साथै दंगा करब) के तहत रिपोर्ट लिख लीन गे हवै। उनका पकड़ा जई।