रपटा टूटा, नदी पार करने के लिए अटके, बांदा जिले के सहपाटन गांव में

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव सहपाटन पिछले साल हेंया रपटा बना रहै पै एक महीना बाद टूट गा है। हेंया से लगभग 10 गांव के मड़ई आवत-जात हैं मड़ई हेंया से खाली हाथ ठीक से नहीं निकले पावत आहीं तौ अउर ज्यादा मुश्किल होत है।साइकिल मोटर साइकिल कुछौ हेंया से नहीं निकल पावत हैं।
भय्यन का कहब है कि हेंया से 10-15 गांव के मड़ई निकलत है नदी पार करे मा बहुतै परेशानी होत है।जग प्रसाद निषाद अउर झालू निषाद का कहब है कि बरसात मा मड़ई बीमार होइ जात है तौ उनकर मउत होइ जात है काहे से आवे जाये मा बहुतै परेशानी है। कउनौ धंधा बिजनेस करै मा भी बहुतै परेशानी होत है।
मुन्नी बताइस कि मड़ई खाली हाथ नहीं निकल पावत तौ बोझ लइके कसत निकारि हैं। प्रधान हरी शंकर निषाद का कहब है कि नीकतान रपटा के मरम्मत नहीं भे रहै तबहिने बाढ़ आ गे रहै यहै कारन रपटा टूट गा हैं।
बी. डी. ओ अधिकारी लालब्रत यादव का कहब है कि विभाग के मड़इन से जांच करावा जई, तबहिने प्रस्ताव बनावा जई वहिके बाद काम होइ।

रिपोर्टर- गीता

13/04/2017 को प्रकाशित