योजना के कमी देखैं के जरूरत

 विकास का तरसत गाँव
विकास का तरसत गाँव

डाक्टर राम मनोहर लोहिया आवास समग्र ग्राम विकास योजना के तहत बांदा जिला मा कइयौ गांवन का लीन गा है। इं गांवन का चयन हर साल होत है। अगर देखा जाय तो या योजना के तहत चयन कीन गे पिछले साल के गांवन का विकास अधूरा है अउर कतौ-कतौ तौ अबै विकास का काम चलत है। इनतान मा या साल चयन भे गांवन के बारे मा कुछ नहीं कहा जा सकत। नये गांवन का काम करब अधिकारिन के खातिर भी मुश्किल काम बन के रहि गा है।
एक कइत 2013-2014 के साल खातिर योजना के तहत गांवन का चुनाव तौ होइगा पै प्रधानन से पता चला कि बजट के नाम मा अबै यासाल का काम नहीं शुरू भा आय। पुराने ही गांवन का बजट आवत जात है अउर काम होत जात है। कउनौ-कउनौ गांवन मा तौ या भी देखैं का मिला कि सिर्फ शौचालय अउर आवास काम का होइगा है। बाकी नाली, खड़न्जा, बिजली जइसे के तमाम काम अधूरे है।
अधिकारिन के बात मानी जाय तौ उंई भी यहै कहत है कि अबै या साल के चयनित गांवन का बजट नहीं आव। पुराने ही गांवन का विकास काम चलत है।
अगर पिछले साल के गांवन का विकास या साल होत है तौ या साल चयनित गांवन का विकास अगले साल होई। इनतान मा योजना के कमी देखैं के जरूरत है कि काम करावैं वाले विभाग ढंग से काम नहीं करै, या फेर बजट समय से नहीं पास होई पावैं।