ये क्या बात हुई डॉक्टर साहब? महोबा जिले के कमालपुर गाँव में भैंस ने कर ली ख़ुदकुशी

जिला महोबा, ब्लाक जैतपुर, गांव कमालपुरा 21 दिसम्बर को श्री पत की भैस मर गई। श्री पत को आरोप हे के डॉक्टर की लापरवाही के मारे और डेट कड़ी दवाई दई जा से हमाई भैस मर गई।
उनको आरोप हे के डॉक्टर के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई लेकिन कोनऊ कारवाही नइ भइ। बलराम श्री पत के मोड़ा ने बताई के डेट कड़ी दवाई दई डॉक्टर ने जासे हमाई भैस मर गई।
हमाई भैस को तनक बुखार हतो सो हमने अतरपठा के डॉक्टर को बुलाओ सो बाने दो मिनिट में पांच इंजेक्शन लगा दए और बस भैस मुश्किल से तीन मिनिट ज़ी बस बाद में मर गई। दिनेश ने बताई के हम उते गये सो डॉक्टर नइ हतो फिर हम डेढ़ घंटा बैठे रए। बाके बाद हम महोबा चिकित्सालय में ले गये।
उते डॉक्टर ने हमे तसल्ली दिवाई और तिवारी को फोन लगओ लेकिन बाद में मर गई। हमने कई के पोस्टमार्टम कर दो सो नइ करो कह रए ते के हम तो पोस्टमार्टम में चाह कछु लिख देहे। फिर सौ नंबर पे फोन लगओ सो पुलिस आ गई। और बे हमे धमकी दें लगे हमने सूचना दई सो बोले के आप चार घंटा बैठो हम आ रए। फिर बे महोबा कंठ थाना चले गये।
कोनऊ सूचना नइ आई और बोले जाओ कुची को बुला ले आओ। हम उते गये सो कुची बोलो के हम पांच सो रुपईया लेहे। राजराम डॉक्टर ने बताई के फांसी से मरी बाने पेड़ से फांसी लगाई। चार आदमी देखबे वाले हे।
उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताई के हमे जा की जानकारी घटना घट्बे के बाद मिली। और जब तक हमे थाने से लिखित नइ आत हम पोस्टमार्टम नइ कर सकत।

रिपोर्टर- श्यामकली

05/01/2017 को प्रकाशित