मोदी लहर काम न आई

(फोटो साभार: विकिपीडिया)
(फोटो साभार: विकिपीडिया)

पटना, बिहार। दिल्ली विधानसभा चुनाव हारने के बाद अब बिहार में भारतीय जनता पार्टी की हार ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।
2014 में लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीतने वाली भाजपा दिल्ली और बिहार जैसे महत्त्वपूर्ण चुनाव क्यों हार गई? दोनों ही चुनाव में सबसे बड़ी बात थी कि मोदी लहर नाकाम साबित हुई तो मुख्यमंत्री पद के लिए स्थानीय पार्टी नेता का चेहरा न होने का नुकसान उठाना पड़ा। ज़मीनी मुद्दों से भाजपा की दूरी भी हार की बड़ी वजह बनी तो बिहार चुनाव में गाय मांस को लेकर भाजपा का नज़रिया पड़ा भारी। उधर संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण खत्म करने के बयान ने जनता को किया नाराज़।