मोदी के गोद लिए गांव में भी बसपा जीती

imagesजि़ला पंचायत के चुनाव हो चुके हैं। जीते प्रत्याशी खुश हैं तो हारे प्रत्याशी गमगीन। बनारस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट है। इसलिए सबकी नज़रें बनारस पर खूब टिकी रहीं। नरेंद्र मोदी ने बनारस का गांव जयापुर आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद भी लिया है। इसलिए जयापुर गांव जिस क्षेत्र में पड़ता है उस क्षेत्र में कौन सी पार्टी का समर्थन पाए उम्मीदवार को जीत मिलेगी इसपर सबकी नज़रें टिकी थीं। वैसे तो पूरे बनारस के नतीजों का इंतज़ार सबको था। जि़ला पंचायत के चुनाव में अड़तालिस में से नौ सीटों पर ही भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीत सके। बाकी बसपा का बोलबाला रहा। कुछेक सीटों पर समाजवादी पार्टी के लोग जीते। अराजीलाइन ब्लाॅक के वार्ड नम्बर एक से चुनाव जीते हैं बसपा के रमेश तिवारी उर्फ गुड्डू तिवारी।

इनसे की है हमने कुछ खास बातचीत-
सवाल- जहाँ  से आप जीते हैं उस क्षेत्र में प्रधान मंत्री मोदी का गोद लिया हुआ गांव  जयापुर भी आता है जहाँ पर भाजपा का ज़्यादा बोलबाला है तो वहाँ  से जीतना कैसा रहा?
जवाब-मेहनत तो करनी पड़ी। एक बसपा का कैडिंडेट होकर भाजपा के इलाके से वोट निकालना। और वो भी उस जगह से जो मोदी जी की गोद में पलता-बढ़ता है। पर हमें जनता ने वोट दिया और हम विजयी हुए।
सवाल-आपने अपने विरोधी अरूण सिंह को  करीब पांच सौ बाइस वोटों से हराया है। इसके लिए आपने कोई खास योजना बनाई थी ?
जवाब– खास रणनीति क्या कहें। सभी जगह पर प्रचार-प्रसार करते थे। इससे पहले 2010 में भी हम खड़े हुए थे उस समय केवल पंाच सौ वोटों से हारे थे। तब सोचा था कि चुनाव में कैसे-कैसे क्या करना है वो सब अनुभव काम आया। और क्षेत्र के सभी लोग जानते थे। इससे पहले 2001 से 2005 तक में बिसुनपुर गांव का प्रधान था। और 2005 से 2010 तक मेरी पत्नी प्रधान थीं इस वजह से लोग जानते थे।
सवाल-आपके विरोधी भाजपा से खड़े थे। क्या ऐसा कुछ हुआ था कि उनको भाजपा की तरफ से कुछ मदद मिल रही थी या कैसा था उनका चुनाव प्रचार-प्रसार?
जवाब- अरे! मदद को कह रही हैं। मैडम पूरा प्रचार-प्रसार ही भाजपा के नेताओं और समर्थकों ने किया। खूब गाड़ी और खूब पैसा। अगर मेरे जैसा चुनाव प्रचार होता तो पांच सौ बाइस  की जगह पांच सौ बत्तीस से भी वह हार सकते थे। सत्ता जिसकी है उसकी ताकत तो दिखती है न।
सवाल-आपने चुनाव तो जीत लिया है अब आपकी आगे की क्या रणनीति होने वाली है? जनता को आप कैसे खुश करने वाले हैं?
जवाब-जिस तरह से मै जीता हूं जनता ने मुझपर भरोसा दिखाया वैसे ही मैं मेहनत से जनता की समस्याओं, दिक्कतों को दूर करने की पूरी कोशिश करुंगा ताकि जनता को लगे कि उसने सही इन्सान अपने लिए चुना।