मेहरारु का जलाय के मार डारिस पति

जिला फैजाबाद, ब्लाक मया, ग्रामसभा समन्था, गांव किषुनीपुर। हिंआ 11जून 2014 के षाम सात बजे के पास मा नेहा कै पति देवेन्द्र मिश्रा आग से जलाय के मार डारिन।
पड़ोसी भरतराम तिवारी बताइन कि दुई साल से हिंआ मया बाजार मा रहत होइगै बाय लकिन कभौं केहूं वहि मेहरारु का देखे नाय रहा। उनकै पति बाहर निकरै तौ चैनल मा ताला लगाय दियत रहे। हिंआ तक कि मायके से केहू मिलै आवै तौ बिना पति के इजाजत के नाय मिल पावत रहिन।
लड़की कै चाचा संतोष बताइन कि हमार गेदहरै तीन चार महीना पहिले मिलै गा रहिन तबौ हमरे गेदहरन के सामने मारे रहे। आठ महीना कै पेटे मा गेदहरा रहा। सास ननद मना करै के बजाय बोली बोलत रहिन। लड़की कै पति दहेज खातिर सतावत रहिन।
29 मई 2010 मा वियाह भै रहा। तीन लाख रुपया नगद, मोटर साइकिल गटई कै चैन, अंगूठी, घड़ी दीन गा रहा। गौने मा बहुत सामान दिया गै रहा। दुई महीना तक ठीक से राखिन वकरी बाद से सतावै लागिन। हमेषा पैसा मांगै का मजबूर करत रहिन। 11 जून का जलाइन फिर कपड़ा बदल के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मा लै गइन। जब देखिन तौ हालत गम्भीर हुवय के कारण रिफर करिन। लखनऊ हजरतगंज सिविल अस्पताल मा उनकै मौत होइगै लकिन 14 जून का एस.पी. के कड़ाई करे के बाद महराजगंज थाना वाले रिपोर्ट दर्ज करिन।
महराजगंज थाना कै एस.ओ. राजेष यादव बताइन कि नेहा के भाई निषान्त के तहरीर पै देवेन्द्र के ऊपर धारा 304 आई.पी.सी. 3/4 डी.पी. एक्ट लाग बाय। यहि केष कै छानबीन डी.पी. सी.ओ. करिहैं।