मेरठ में छिड़ी हिंसा

जिला मेरठ। पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में 10 मई को अचानक दो समुदायों के बीच भड़की हिंसा से शहर में तनाव छा गया। हिंसा में चार लोगों को गोली लगी, पचास और घायल हुए और 12 मई को स्थिति और भी गंभीर हो गई जब गोली लगे चार में से एक की मौत हो गई। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और अट्ठारह केस फाइल किए जा चुके हैं।
घटना तब हुई जब मेरठ के गुद्री बाज़ार इलाके में एक मस्जिद के लोग बाउन्ड्री बनवाने लगे। इस बाउन्ड्री के अंदर एक पुराना कुआं भी आ रहा था। कुआं काफी समय से विवाद के घेरे में रहा है। हिंसा तब छिड़ी जब मुनसिपैलिटी के चेयरमैन विजय आनंद कुछ लोगों के साथ बाउन्ड्री के निर्माण को रोकने पहुंचे। दंगे में भीड़ ने एक ज़ेवर की दुकान लूटी, मिठाई की दुकान में तोड़फोड़ की और एक मोटरसाइकल भी जला दी। कुछ पत्रकारों के साथ भी हिंसा हुई पर कोई भी गंभीर रूप से घायल नहीं है।
डी.एम. नवदीप रिन्वा ने कहा कि सावधानी के लिए स्कूल और कालेज 14 मई को बंद रहे। मामले में जांच की जा रही है।