मुलायम की बेतुकी बयानबाजी

26-12-13 Desh Videsh - Mulayamउत्तर प्रदेश क्यों बदनाम है? 2014 की राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो की रिपोर्ट में साफ कहा गया कि बलात्कार के मामले में पूरे देश में उत्तर प्रदेश का तीसरा स्थान हैै। पहला स्थान मध्य प्रदेश और दूसरा राजस्थान का है। देश में हो रहे कुल अपराधों में से करीब साढ़े ग्यारह प्रतिशत अपराध उत्तर प्रदेश में हो रहे हैं। मगर प्रदेश में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के प्रमुख नेता मुलायम सिंह यादव ऐसे आंकड़ों को साजिश मानते हैं।

मुलायम सिंह का कहना है कि प्रदेश को बदनाम करने का अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने एक बेतुका बयान भी दिया – एक महिला के साथ चार लोग कैसे बलात्कार कर सकते हैं? यह व्यवहारिक नहीं है। मुलायम ने यह भी कहा कि भाजपा शासन वाले राज्यों में तो उनके प्रदेश के मुकाबले ज्यादा बलात्कार होते हैं। मगर खबरें ज्यादा उत्तर प्रदेश की ही आती हैं। यह सब विपक्षी दलों की चाल है। उन्होंने कहा कि बदायूं में दो बहनों के साथ हुए बलात्कार और फिर पेड़ में लटकाकर उनकी हत्या की खबर को खूब प्रचारित किया गया। मगर सी बी आई जांच में तो यह बात झूठी पाई गई। मुलायम सिंह यादव से यह पूछा जाना चाहिए कि क्या उनकी प्रतिस्पर्धा सबसे ज्यादा अपराध होने वाले राज्यों से है? क्या यह कहकर वह बच सकते हैं कि उनके प्रदेश से भी ज्यादा अपराध वाले राज्य भारत में हैं।

इससे पहले भी मुलायम ने बलात्कार के मामले में बेतुकी बयानबाजी की थी। बयानबाजी से पहले तथ्य परख लेने चाहिए। उनके लिए तो राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो की रिपोर्ट भी कोई मायने नहीं रखती। मगर यह नहीं भूलना चाहिए कि दो साल बाद प्रदेश में चुनाव हैं। ऐसे में अपराधों पर लगाम कसने की जगह उन्हें ढकने की कोशिश सत्ता पलट सकती है।