मुख्यमंत्री जयललिता को जेल

 

(फोटो साभार: विकिमीडिया)
(फोटो साभार: विकिमीडिया)

चेन्नई, तमिल नाडू। देश में पहली बार एक मुख्यमंत्री को जेल की सज़ा सुनाई गई जिस कारण उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा। 27 सितंबर को एक विशेष कोर्ट ने तमिल नाडू राज्य की मुख्यमंत्री जयललिता को आय से अधिक संपत्ति होने के मामले में चार साल जेल और सौ करोड़ रुपए का जुर्माना भरने का फैसला सुनाया।
अट्ठारह साल पुराने केस के फैसले से जयललिता के समर्थकों ने खुलकर विरोध किया। राज्य में कई जगह हिंसा भड़की और दुकानें, सिनेमा और बड़े बाज़ार बंद रहे। राज्य की बागडोर फिल्हाल वरिष्ठ नेता ओ. पन्नीरसेल्वम ने संभाली है। जयललिता की ज़मानत की सुनवाई दशहरे की छुट्टियों के बाद होने की संभावना है।