मुख्यमंत्री के वादे ताख पर, चित्रकूट जिला के रामनगर गाँव के दलित बस्ती में दो साल से नहीं आई बिजली

 

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर दुई साल बीत गे पै हिंया के दलित बस्ती मा नहीं बदला गा आय। मुख्यमंत्री के वादा करै के बाद भी दलित बस्ती बिजली से परेशान हवै। चुनाव खतम होइगे, सरकार भी बदल गे, पै हिंया के परेशानी जस के तस हवै।
इनतान के गर्मी मा तापमान 40 डिग्री पहुंच गा हवै मड़ई इनतान के चिलचिलात गर्मी बहुतै मुश्किल से आपन काम चलावत हवै। पै बिजली विभाग या समस्या का ध्यान नहीं देत आय। माया का कहब हवै कि बिजली न होय से सोवे मा अउर खाना बनावै मा बहुतै परेशानी होत हवै। इनतान के गर्मी मा रहाइस नही पड़त आय। छोट छोट बच्चन का लइके बाहर बइठ रहित हन।
रामबहादुर का कहब हवै कि बिजली वाले जबै गांव आवत हवै तौ कटिया के जांच करत हवै ट्रास्फारमर नहीं बदलत आहीं। उंई दारु पी के जांच करै आवत हवैं। ट्रास्फारमर बदलावै खातिर गये रहेन पै बिजली विभाग वापस लउटा दिहिस हवै।
प्रधान राजकरन बताइस छह महीना पहिले बिजली विभाग वाले ट्रास्फारमर लइगे रहै ए. डी. ओ. कहत हवै कि गांव वालेन के बीस से पचास हजार तक के बिल बाकी हवै यहै कारन ट्रास्फारमर नहीं बदला जात आय कोशिश कीन जात हवै कि दुइ तीन दिन के भीतर ट्रास्फारमर बदला दीन जायें।
समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह का चार लाख बिजली बिल बकाया पै उनके बिजली नहीं काटी गे आय पै दलित बस्ती के मड़इन का बिजली के सुविधा नहीं दीन जात। आखिर या दोहरा ब्यवहार काहे कीन जात हवै।
विधायक प्रतिनिधि शक्ति प्रसाद तोमर का कहब हवै कि चुनाव के पहिले अउर बाद मा बिजली के इनतान के समस्या के जानकारी नहीं आय। जनसुनवाई होइ तौ वहिमा समस्या दूर कीन जई।

रिपोर्टर- सहोद्रा

21/04/2017 को प्रकाशित