मिल्खा सिंह के जीवन पर बनी फिल्म

 

(फोटो साभार - विकिपीडिया )
(फोटो साभार – विकिपीडिया )

‘‘भाग मिल्खा भाग’’ चिल्लाया उसके पिता ने। ये उनके आखरी शब्द थे। भारत दो टुकड़ांे में कट रहा रहा था और इस बंटवारे के बीच हज़ारों जिंदगियां बदल रही थीं। उसमंे से एक था मिल्खा सिंह, जिसे ‘उड़ते सिख’ के नाम से भी जाना जाता है। बंटवारे के समय जो दंगे हो रहे थे उसमे मिल्खा के पिता मारे गए और मरने से पहले उनके आखरी शब्द हमेशा मिल्खा के साथ रहेे। मिल्खा के जीवन पर एक फिल्म बन रही है जिसका नाम है ‘‘भाग मिल्खा भाग’’।
मिल्खा सिंह भारत के अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हैं। उन्होंने 1960 कामनवेल्थ गेम्स (एक अन्तर्राष्ट्रीय खेल समारोह) में सबसे उच्च पद प्राप्त किया था। मिल्खा ने अपनी तेज़ रफ्तार से भारत का नाम दुनिया भर में रौशन किया है। आज उनके जीवन पर आधारित जो फिल्म बन रही है उस से जो पैसा इकट्ठा होगा वो ज़रूरतमंद खिलाडि़़यों को दिया जाएगा। मिल्खा सिंह पंजाब के खेल विभाग को चलाते हैं। उम्मीद है कि ये फिल्म बेहद मनोरंजक और प्रेरणादायक होगी।