मिलिए महोबा में आई धाकड़ महिला खिलाड़ियों से

महोबा जिले के कुलपहाड़ कस्बे में 28-29 जनवरी को मगरौल उत्सव मनाया गया। वैसे तो यह हर साल मनाया जाता है, जिसमें कबड्डी और दंगल प्रतियोगिता होती है, लेकिन इस साल यहां महिला खिलाड़ियों का जलवा रहा है। जिसमें अलग-अलग महिला खिलाड़ियों ने भाग लिया है। मुजफ्फरपुर, गाजियबाद और वनारस समेत कई जगह से खिलाड़ी आये हैं।
महोत्सव के आयोजक एवं प्रधान प्रतिनिधि अर्जुन सिंह का कहना है कि प्रधानमंत्री की जो सोच है कि महिलाओं को आगे करने से देश का भविष्य उज्ज्वल हो इसलिए ग्राम प्रधान होने के नाते प्रधानमंत्री के मन की बात सुनकर यह कार्यक्रम किया है। महोबा सांसद पुष्पेन्द्र सिंह का कहना है कि महिला कबड्डी के इस टूर्नामेंट में जो लड़कियां यहां खेलने आयी है उनको और उनके माता-पिता को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि अपनी लडकियों को आगे बढ़कर देश की तरक्की में सहयोग कर रहे है।
कबड्डी खिलाड़ी मोनी पाल का कहना है कि पहली बार खेलने में डर लग रहा था, अब डर नहीं लगता है। मैं तीन साल से खेल रही हूँ। रागिनी चौबे का कहना है कि घर छोड़कर आने में परेशानी होती है, सब लोग मिलकर परेशानी को हल करते हैं। परिवार वाले सहयोग करते है। हरियाणा,सोनीपत समेत कई जगह खेलने जा चुकी हूँ।
इलाहाबाद कबड्डी कोच मकसूदन का कहना है कि कबड्डी का खेल बीच में लुप्त हो रहा था, जब से आईपीएल में आया है तब से कबड्डी की इज्जत बढ़ी है। उद्घोषक दिनेश कुमार का कहना है कि जब से अर्जुन सिंह ग्राम प्रधान बनें है तब से कबड्डी का खेल करवा रहे है।
दर्शक दिलीप का कहना है कि सभी गांव के लोग यहां कबड्डी देखने आते हैं। सोनाली ने बताया कि यहां लड़कियां खेलने आती हैं इसलिए यह खेल अच्छा लगता है।  

रिपोर्टर- श्यामकली

Published on Jan 29, 2018