मिलिए, भारत की वुशु चैपियन फरीहा से…

14717194_1207553475968099_6561559704471998148_nफरीहा 14 साल की साधारण सी दिखने वाली लड़की है जो ‘वुशु’ सीखकर पूरी दूनिया में मशहूर हो रही है।
‘वुशु’ चीन के मार्शल आर्ट्स की तरह ही एक कला है। इसे 1949 में इजाद किया गया था। हैदराबाद के स्कूल ने इसे लड़कियों को सिखाने का निर्णय लिया, जिससे वे अपनी रक्षा कर सकें।। जिन लड़कियों ने इसे सीखा, उसमें सबसे सफल 14 साल की फरीहा तफीम रहीं।
राज्य प्रतिस्पर्धा जीतने के बाद फरीहा को नेशनल चैंपियनशिप के लिए चुना गया। यह प्रतियोगिता असम में होनी थी। चूंकि यह जगह हैदराबाद से बहुत दूर है इसलिए फरीहा की मां उसे वहां नहीं जाने देना चाहती थी। उसकी मां ने उससे कहा, ‘तुम अब बड़ी हो रही हो और तुम्हारा इतना दूर जाना सुरक्षित नहीं है’।
उसकी मां और भाई का मानना था कि अगर फरीहा ऐसी प्रतियोगिता में भाग लेती है तो उनके समाज में उनके बारे में कई तरह की बातें की जायेंगी।
लेकिन फरीहा लगातार अपनी मां को समझाती रही। अंततः उसके पिता ने उसका साथ दिया और वह गुवाहाटी गई। वहां उसने राष्ट्रीय प्रतियोगिता भी जीत ली।
हाल ही में, फरीहा पर जयीशा पटेल ने ‘इंडियाज वुशु वॉरियर गर्ल’ नाम की डोक्युमेंट्री बनाई है। जयीशा कहती हैं कि ‘मैं फरीहा की उम्र जानकर हैरान थी कि इतनी छोटी बच्ची ने किस तरह अपने समुदाय के विचारों से अलग जाकर अपने लिए रास्ता बनाया। उसकी कहानी प्रेरणा देने वाली है।
साभार: द लेडीज फिंगर