मिलिए, देश की पहली ट्रांसजेंडर जज से

जोइता मंडल पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर की लोक अदालत में जज बन गई हैं। जोइता के लिए यह मुकाम बहुत खास है क्योंकि वह ट्रांसजेंडर (तीसरे लिंग समुदाय से) हैं। उनके लिए यह सफर इसलिए बिलकुल भी आसान नहीं था। और अब वह अपने समुदाय के हजारों लोगों के लिए एक प्रेरणा हैं।

भीख मांगने से लेकर एक सफल कलाकार बनने तक! देखिए किन्नर पायल की कहानी

जोइता साल 2011 से अपने समुदाय से जुड़े कई मुद्दों पर काम कर रही हैं। एक समाज सेविका होने के तहत, उन्होंने समुदाय से जुड़े मुद्दों पर वकालत भी की, और ये सराहनीय रही है। और अब जब वे इस पद पर पहुँच गई हैं, यो ये उपलब्धि ट्रांसजेंडर समुदाय और देश, दोनों के लिए प्रगतिशील भावना की एक मिसाल है।

फोटो साभार-जोइता मंडल, फेसबुक पेज