मिलिए गौरी सावंत से

साभार: फेसबुक/गौरी सावंत
  • गौरी का जन्म मुंबई में दादर के मराठा परिवार में हुआ।
  • उनका बचपन का नाम गणेश नंदन था।
  • उनके पिता सहायक पुलिस आयुक्त थे।
  • गौरी को ट्रांसजेंडर होने के कारण अपना घर छोड़ना पड़ा था।
  • गौरी ने 2009 में तीसरे लिंग की मान्यता के लिए अदालत में पहली बार हलफनामा दिया था।
  • आज गौरी दि सखि चारचौघी ट्रस्ट के माध्यम से अन्य ट्रांसजेंडर की जिंदगी संवार रही हैं।
  • गौरी की एक गोद ही बेटी है, जिसका नाम गायत्री है।
  • हाल में विक्स के एक विज्ञापन में गौरी और गायत्री के प्रेम को दिखाया गया है, जिसमें गौरी मां शब्द को लिंग से अलग रखने की बात कहती हैं।