मास्टरन के ऊपर होइगा कर्जा

IMG3270Aजिला बांदा। बांदा जिला मा कनवर्जन कास्ट (मिड्डेमील का खाना बनावैं खातिर अन्य सामाग्री का मिलैं वाला रूपिया) न मिलैं से मास्टरन के ऊपर कर्जा चढ़गा है। मास्टर मिड्डेमील बंद करावैं का मजबूर हैं।
ब्लाक बिसण्डा का गांव पुनाहुर। हेंया के प्राथमिक विद्यालय भाग एक के हेडमास्टर महेश कुमार बताइन-“उनके हेंया 129 बच्चा हैं। अगस्त 2013 से नवम्बर 2014 तक मा किराना के दुकान मा तीस हजार रूपिया कर्ज होइगा है। दुकानदार अब किराना देब बंद कई दिहिन हैं। या मारे 1 दिसम्बर 2014 से मिड्डेमील बनब बंद करवा दीने रहन। मैं या सूचना बिसण्डा बी.आर.सी. मा दीने हौं।”
बिसण्डा सहायक बी.एस.ए. कहिन कि एक हफ्ता खाना अउर बनवाओ। अगर तब भी कनवर्जन कास्ट का रूपिया न मिली तौ मिड्डेमील बनब बंद करवा दीनेंव। या मारे 4 दिसबंर से फेर बनत है।
ब्लाक तिंदवारी, गांव चिल्ला के प्राथमिक विद्यालय हेडमास्टर नफीस मोहम्मद बताइन कि 4 जून 2014 से कनवर्जन कास्ट खतम है। उंई 21 जून 2014 का तिंदवारी बी.आर.सी. विभाग मा कनवर्जन कास्ट न होय के सूचना दिहिन हैं।
बी.एस.ए. डाक्टर सत्यनारायण का कहब है कि जिला मा रूपिया आ गा है। बी.आर.सी. मा भेज के स्कूलन का रूपिया दीन जई। या काम खातिर एक हफ्ता अउर लाग जई।