मारिस अउर बच्चा भी छोड़ा लिहिस

2जिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द, गांव मटौंध, मुहल्ला हरसिन थोक। हेंया के धरमी का मनसवा गनेशा दहेज के बहाना मा 25 मई 2014 का खूबै मारपीट करिस मटौंध थाना वाले आके वहिके जान बचाइन है।
धरमी कहिस कि दस साल पहिले मोर शादी कबरई ब्लाक का गांव सोनइचा मा मनसवा गनेशा के साथै भे रहै। तबै से वा मारपीट करत आय। अबै तक सहे हौं अब न सइहौं। मनसवा कहत है कि अपने बाप महतारी से पचास हजार रूपिया लाव तौ मैं रूपिया कहां से पाऊं आपन हैसियत के हिसाब से दान दहेज दिहिन है। नौरात्र के समय मोहिका इनतान मारिस है कि 15 दिन उठै बइठै तक नहीं पावत रही हांै। मोर बच्चा भी छीन लिहिस है। अब मैं मायके चली आई हौं तौ मोर मायके आवा अउर मैं टट्टी जात रहांै तौ रास्ता मा घेर के मोहिका मारिस। मोहिका जबरन मोटर साइकिल मा बइठावत रहा है। तबै पुलिस आके छोड़ाइस अउर दुई दिन तक गनेशा का थाना मा बइठाये रहै।
मनसवा गनेशा कहिस कि मैं वहिका लेवावैं जात हौं तौ नहीं आवत आय। मटौध थाना प्रभारी उमा शंकर यादव का कहब है कि हमार पास कउनौ दरखास नहीं आई आय। अगर दरखास आवत तौ कुछ कारवाही कीन जात हे।