माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली पहली महिला का निधन

साभार:रफ़्तार
साभार:रफ़्तार

दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर पहुंचने वाली पहली महिला जुनको ताबे का निधन हो गया है। वह 77 साल की थीं। उन्होंने माउंट एवरेस्ट की चोटी को फतह करने के बाद अपनी यात्रा जारी रखी थी और 70 से अधिक देशों के सबसे ऊंचे पर्वतों की चोटियों को फतह कर इतिहास रचा था।
एवरेस्ट फतह करने के 16 वर्ष बाद 1991 में उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा था, ‘मैं और भी पर्वत फतह करना चाहती हूं।’ उन्होंने यह साहस भरा काम एक ऐसे देश में रहते हुए किया था जहां महिलाओं की जगह घर में मानी जाती थी।
माउंट एवरेस्ट पर पहुंचने के 12 दिन पहले वो बर्फीले तूफान की चपेट में आ गई थीं। उनके एक गाइड ने उन्हें बर्फ से बाहर निकाला। इसके बाद भी उन्होंने चढ़ाई जारी रखी।वह 1992 में सात महाद्वीपों की सबसे उंचे पर्वतों की चोटियों को फतह करने वाली पहली महिला बनीं। चार साल पहले पता चले कैंसर की वजह से ताबे का निधन हो गया।