महोबा में पंद्रह दिन से आ रहा गन्दा पानी

जिला महोबा, शहर महोबा एते लगभग पन्द्ररा दिना से आ रओ गंदो पानी। जी के मारे सब आदमी उठा रए परेशानी। और वर्षात को पानी पी रए हें।कोनउ व्यबस्था नईया। पानी के मारे सब आदमी बीमारी से हो राये परेशान।
महोबा की रैबे वाली शमीना ने बताई के कम से कम पंद्रह दिना से गंदो पानी आ रओ। जी में इतनी बुरी तो वास आत बामे के पीबे की तो बात छोड़ो नहा तक नई पात। और सब बीमार हो रए बच्चा न बड़े और बूड़े सब। जासे इतनो पेट में दर्द हो रओ सबके का बताये। जो पानी पीबे से सबको पेट की बीमारी हो रई। बस सब जने पेटई पेट को रोत रत। और अबे तक कोनउ सुनबाई नईया।न जल विभाग से न सरकार से न प्रधान से। जा के मारे हम तो भरबेई नई जात। और ऊपर बस्ती के लाने तो पानी छोड़ तई नईया। और एक सौ बीस रुपया लगत मईना के। जब कनेक्शन भय ते तबई एक दो महीना आओ। और फिर बंद कर दाओ। और बिल बराबर जमा करने परत। नूरजहां ने बताई हें के हमाय ते न पानी की सुविधा हें। न सड़क बन रई। और पानी को तो पूरो गांव परेशान हो रओ। राजेश गोस्वामी नगर उपाध्यक्ष महोबा ने बताई हें के कम से कम बीस दिना से गंदो पानी आ रओ तो। हमने जिला प्रशासन और जल विभाग में सूचना दई हें। और पहले पीलो आ रओ तो।फिर अब कालो आ रओ। और हमें लग रओ के जामे घातक रासायनिक घोल मिल के आ राओ। बच्चन और गरीब आदमियन पे जा को बुरो प्रभाव पड रओ। जा से आत में खराबी आ रइ।और जो जादा दिना के लाने बीमारी हो जेहे। बच्चन और गरीबन को अगर जामे ध्यान नई दओ तो। आगे चल के बड़ी बीमारी हो सकत।काय के हमने भी जब जो पानी पीओ तो हम लोगन को भी पेचिस की बीमारी हो जात तो हम तो मोल पानी खरीद के पी राये।होय पईसा चाहे नई होय तो भी पीने। ओमप्रकाश अधिशाषी अभियंता ने बताई के जो पाइप लाइन बिछी हें बामे हम कुछ नई कर सकत।हमने सूचना दे दई। लेकिन सुधारबे में दिक्कत आ रई हें। तो पतो नई चल रओ के पानी काय गन्दो आ रओ।और जा सूचना हमे पेले भी मिलि ती। लेकिन बराबर काम चलत रओ पतो नही चल पा रओ तो। के अखिर कहा से ख़राब हें।लेकिन अब पतो चल गओ हें कि बरसत को एक दम पानी बरसबे के मारे जा सब दिक्कत हो गयी हे। जो अब सई हो रई हें। सो अब सब ठीक हो जेहे।
रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति 
01/08/2016 को प्रकाशित

बारिश का पानी पीते हैं जब नल में आता है कीचड़ और बदबूदार पानी
महोबा में पंद्रह दिन से आ रहा गन्दा पानी