महोबा में कब सुधेरेंगी स्वास्थ्य सुविधाएं ज़िले में एम्स जैसे अस्पताल की मांग को लेकर धरना

जिला महोबा, शहर महोबा 7 अगस्त से बुंदेलखंड के लोग एम्स अस्पताल के मांग के लाने धरने में बेठे हें। काहे से कि बुंदेलखंड में एम्स ना होय खे कारन से मरीजन का कोनऊ सुविधा नई मिल पाउत हे। जिला अस्पताल से ज्यादातर मरीज झांसी या फेर कानपुर जात हें। ईसे हमाई मांग हे खे बुंदेलखंड में एम्स अस्पताल होय खे जरूरत हे। सुख नंदन सिंह यादव बताउत हें कि हम लोगन ने प्रधान मंत्री नरेंद्र सिंह मोदी खा चिट्ठी लिख खे भेज दई हे। अगर महोबा जिला में एम्स अस्पताल बन जेहे तो एते उरई हमीरपुर,बांदा अोर चित्रकूट जेसे कई जिला के लोगन खा आराम हो सकत हे। तारा पाटकर कहत हें कि महोबा में क्रेशर मशीन चलत हें जीसे आदमी पहाड़ में पाथर फोड़े को काम करत हें। ईसे आय दिन घटना होत रहत हें। उनखा इलाज  जिला अस्पताल में नई हो पाउत हे। ई कारन से घायल लोगन खा जिला से बाहर रेफर कर दअो जात हे। ईसे घायल लोगन खा दूर जाये में मोत हो जात हे। जभे तक एम्स अस्पताल ना हो जेहे नंगे पेर रेंहों। महोबा बुंदेलखंड खा हृदय हे।
रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति 
26/08/2016 को प्रकाशित

महोबा में कब सुधेरेंगी स्वास्थ्य सुविधाएं
ज़िले में एम्स जैसे अस्पताल की मांग को लेकर धरना