महोबा जिले के बागौल की सड़क तीन साल से ख़राब, प्रशासन की नहीं पड़ रही नज़र

जिला महोबा, गांव बागौल बागौल की सड़क पिछले तीन साल से खराब हे लेकिन न कोनऊ अधिकारी मंत्री न विधायक कोऊ ध्यान नइ दे रओ। जिते आदमियन को आबे जाबे में बोहतई परेशानी हो रई।जिला महोबा, गांव बागौल बागौल की सड़क पिछले तीन साल से खराब हे लेकिन न कोनऊ अधिकारी मंत्री न विधायक कोऊ ध्यान नइ दे रओ। जिते आदमियन को आबे जाबे में बोहतई परेशानी हो रई। इन्द्रपाल ने बताई पूरी सड़क एसी हे के चल भी नइ पात वाहन चलाबो तो दूर की बात हे। पूरी सड़क पे गड्डा ही गड्डा हे।कैलाश ने बताई के तीन साल से खराब डरी कम से कम सात आठ किलो मीटर दूर बाय ।  रामओतार और रामदास छात्र ने बताई के हम रोज के रोज टेम से स्कूल नइ पहुच पात। हम सुबेरे छह बजे से घर से निकरत लेकिन जाबे में डेढ़ घंटा लग जात बैसे आधा घंटा की रास्ता हे। राजेश कुमार ने बताई के हम ने आदमियन से कई ती के चल के सड़क पे धरना करो तो डी एम् आहे कछू सुनवाई हुए। लेकिन किसान आदमी उन्हें कऊ कछू करने परत कऊ कछू। हमने केऊ बार दरखास भी दई लेकिन कछू सुनवाई नइ होत। ई बी बी अग्रवाल अधिशाषी अभियंता ने बताई के कुल पहाड़ से गोरखा तक पहले आर ई एस ने बनबाई ती सड़क जीको दस साल हो गयी। जाको स्वामित्य हे बो बोहतई खराब हे। विशेष मरम्मत जिला पंचयात को ही कराने आगे की जो सड़क हे बो लोक निर्माण विभाग की हे बाको प्रस्ताव गओ हे शासन को अगर मंजूर हो जेहे तो काम करा दओ जेहे।

रिपोर्टर- श्यामकली

Published on Jul 24, 2017