महोबा जिले के कुलपहाड़ क्षेत्र में सात साल की मासूम बच्ची के साथ छेड़छाड़ का लगाया आरोप

हत्या और बलात्कार जैसे गंभीर अपराधों के मामले में उत्तर प्रदेश सबसे अव्वल है। राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरों की ओर से जारी आकड़ों के अनुसार 2016 में उत्तर प्रदेश में बलात्कार के अड़तीस हजार नौ सौ सैतालिस मामलें दर्ज हुए हैं। महोबा जिले के कुलपहाड़ क्षेत्र के एक परिवार का आरोप है कि उनकी सात साल की लड़की के साथ 14 फरवरी को गांव के ही पैतालिस साल के फूलसिंह ने दूध देने के बहाने बुलाकर बलात्कार करने कि कोशिश की। पिछले छह महीनों में महोबा जिले से बलात्कार और छेड़खानी के सात मामले खबर लहरिया ने कवर किये है।
लड़की की मां ने बताया कि लड़की रोते-रोते घर आयी और बताया कि बुड्ढा गलत काम करने की कोशिश कर रहा था। तब मैंने यह बात अपनी जेठानी से बताई है।
लड़की का कहना है कि वो घर के अन्दर लिवा गया और दरवाजा बंद कर लिया कहने लगा कि रोटी खा लों  तब मैंने मना कर दिया तो वह गलत काम करने लगा।
लड़की की बड़ी मां ने बताया कि बुड्ढा कह रहा था हमारे घर में दूध रखा है तो अपनी लड़की को भेज दो तो ले आयेगी जब लड़की दूध लेने गयी तो गलत काम की कोशिश की।
थाना प्रभारी राजा दुबे के अनुसार छेड़खानी की धारा 354 8 पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।

रिपोर्टर- श्यामकली   

Uploaded on Feb 15, 2018