महोबा जिले का गहरा – पहड़िया बस्ती को बसे 30 साल हो गए लेकिन यहाँ अब तक नहीं हुआ विकास…

जिला महोबा, गांव गहरा, पहड़िया बस्ती को बसे कम से कम तीस साल हो गयी लेकिन अबे तक इते कोनऊ व्यवस्था नईया।
पानकुवर ने बताई के हर साल पन्नी डारत जब घर में बैठ पात न जासे ज्यादा घर मकान नई बना पा रए न कोऊ सुनत हे कछू सुनाई नईया। और हमाओ जोई पीलो कार्ड हे सो तेल अकेलो मिलत और कछु नई मिलत।
बाबूलाल ने बताई के गुमान से कई प्रधान से कई सब जगह कई लेकिन कोई सुनत ही नईया।
प्रेम देवी ने बताई के हमे तो जोई पतो नईया के हम चेयर मेन हे के प्रधान हे। पुलिया बन जाबे तो मोड़ी मोड़न को निकरवे में कोनऊ परेशानी न होहे और हारे खेते जाने तो परेशान होत। हर साल एसो भर जात अबकी बार ज्यादा पानी हे सो ज्यादा भर गओ। परसाल तो पानी हतोई नई सो कम भरो तो।
विमला आनरगी चेयरमैन ने बताई के अब धीरे धीरे विकास होहे। अब होबे में कम से कम दो तीन महीना तो लगई जेहे।
उपजिला अधिकारी रामयश गौतम ने बताई के हम जाये दिखवा लेहे अगर नगर पंचयात से हो सकत तो उते से करवा हे। नही तो फिर एस डी एम से बात कर हे और काम करवाहे।

रिपोर्टर- श्यामकली  

 

30/08/2016 को प्रकाशित