महोबा के रूरीकला गांव के एक परिवार का आरोप है कि लापरवाह ए एन एम की वजह से नवजात शिशु की मौत हो गई

जिला महोबा, गांव अजनर पूजा के घर वालेन को आरोप हे के पूजा के बच्चा 2 सितम्बर को भइ। लेकिन ए एन एम लीला वती की लापरवाही के मारे पूजा को मोड़ा मर गओ। जा की जानकारी सी एम ओ को दे दई
पूजा के पति कीरत ने बताई के पूजा को दो दिन से दस्त लग रए ते सो हम अपनी खुद की गाडी से पूजा को महोबा कंठ ए एन एम सेन्टर ले गये। उते ए एन एम ने बिना जांच करे कै दई के पूजा के बच्चा पंद्रह दिन बाद हो हे जा के बाद पूजा को घर लेयाय औ पूजा को बच्चा घरे हो गओ। जब हम ए एन एम को लेबे महोबा गये तो टीका लगवाबे के लाने तो ए एन एम नई आई। आशा बहू द्रोपती आई सो बाने बच्चा को वजन तोलो बाके बाद बच्चा की हालत ख़राब हो गयी फिर महोबा गये उते सो ए एन एम ने झांसी के लाने रिफर कर दओ सो बच्चा रस्ता में ही ख़तम हो गओ। और ए एन एम लीलावती और फिर इलाज उनके पति काय करत।
ए एन एम ने बताई के जो आती हे डिलेवरी बे हम करत हे अगर हमे समझ में नई आत तो हम खुद कह देत के पनवाड़ी ले जाओ। हम डिलेवरी के लाने बाहार नई भेजत अब आदमी न माने और गहरे चले जाए तो हम का कर सकत बामे। कबहु कबहु समय समय से सब सामान मिल जात अगर स्टाफ में नई आत तो नि मिलत अगर तीन चार एकठी डिलेवरी होती तो बे करत हे।
किरत की मताई ने बताई के बिन नो जाओ सो बे कती के अबे नई होने और भगा देती और डरबा देती कती के झांसी जाओ।
सी एम ओ साब ने बताई के हमने उते के अधीक्षक से कई हे के पूरी जांच करवाई जाबे अगर ए एन एम की गलती होगी। तो उने हटाओ जेहे और जा की भोत गहराई से जांच करी जेहे। अगर ए एन एम अच्छे से काम करे तो न जे बच्चन की मौत हो हे न बच्चा कुपोषित हो हे।

रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति सुरेखा राजपूत 

14/09/2016 को प्रकाशित

महोबा के पनवाड़ी ब्लॉक के रूरीकला गांव के एक परिवार का आरोप है कि ए एन एम की लापरवाही की वजह से नवजात शिशु की मौत हो गई