महोबा के पनवाड़ी ब्लॉक में सड़क टूटी पैसे देकर रास्ते से गुजरने पर मजबूर हुए लोग

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी इते पानी के मारे रोड कट गओ जीमे आदमियन को परेशानी हो रही। और कछु आदमियन ने अपनों धंधो भी शुरू कर दओ जी में अब आदमियन को रुपईया देके पुल पार करने परत। और अबे तक कोनऊ सुनवाई नईया।
विशम्भर प्रसाद ने बताई के ज्यादा पानी बरसबे के मारे कट गओ रोड। रक्षाबंधन को कटो हे अबे तक न सही भओ न कोई अबे तक देखबे आओ। सो अब परेशान हो रहे।
बलिराज राजपूत ने बताई के एंगिल डल गये अब बई से निकरत लेकिन डर लगत के गिर न परबे कम से कम चार पांच फुट गहरो गढढा हे।पतो नईया कबे रोड़ बन हें।
रामपाल ने बताई के कम से कम बीस गांव से ज्यादा के आदमियन को नुकसान हे न कोऊ जा पा रए इते उते न कछु न मोड़ी मोड़ा स्कूल जा पा रए उनकी पढ़ाई को नुकसान हो रओ।
राजू ने बताई के एक बार निकरबे के दस रुपईया लेत हमने कोई से नई पूछी हमने तो खुद अपने आप लगाई हे। ऐंगिल जाके मारे के लगाई के आदमियन को परेशानी न होबे और कोऊ को जरुरी काम न रुकबे जी से हमाओ भी खर्चा निकरत रत जो आदमी रात के इते रुकत हे। और किराये कि एंगिल लए चार। एक एंगिल के दस रुपईया लगत दीन में कम से कम चालीस से पचास गाड़ी निकरती हे अधिकारी से कई सो सुनी नईया दैनिक अखबार में निकरबा दई अकेली।
लक्ष्मी नारायण पंत जे ई पी डब्लू डी ने बताई के खेत में पानी भर गओ और जो बी एस एन एल कि ब्रांच लगी तो उने खुदाई करी तो अच्छे से नई पुराई करी तो। अब ज्यादा पानी बरसो सो बो पानी के मारे बो कट गओ। और रात के कटी और सुबह उनने एंगिल लगा लाई और अपनों काम शुरू कर दओ।
रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति और सुरेखा 
02/09/2016 को प्रकाशित

महोबा के पनवाड़ी ब्लॉक में सड़क टूटी
पैसे देकर रास्ते से गुजरने पर मजबूर हुए लोग