महोबा के गलियां गाँव की गायत्री की मौत

जिला महोबा, गांव अलीपुरा गलिय गांव की गायत्री की मौत 12 सितम्बर को डाई पी बे से हो गई। मायके वालेन को कबो हे के गायत्री की शादी एक साल पहले अलीपुरा के कामता से भई ती। जी से वो दहेज के लाने परेशान करत तो गायत्री को। और ससुराल वालेन को कबो हे के गायत्री की मौत दिमागी हालत ख़राब होबे के मारे भई। मामला दर्ज हो गयो पुलिस जा की जांच कर रई
गोरे लाल गायत्री के बाप ने बताई के हमाई मोड़ी को मारत हतो के मायके से रुपईया ले आओ जबकि हमने पूरो ब्याय आठ लाख को करो तो।
लाल दीवान गायत्री के फूफा ने बताई के हमाई मोड़ी को हमेशा मारत रत तो और बाको पूरो जेवर बेच दओ तो।
भरत गायत्री के चाचा ने बताई के पहले लड़ाई भई सो हम गये हमने समझो बुझाओ के काय मारत पीटत। फिर हमने अपनी मोड़ी से कई के ज्यादा परेशान कर रए होबे तो हम समझा देबे। तो हमाई मोड़ी इतनी अच्छी हती बोली नई हमे बई घर में रहने जिन्दगी भर हम लड़ाई नई करबो चाह रए। सो हमने कई के हम तो अपनी मोड़ी को लुआ जा रए सो गायत्री के ससुर ने नई जान दओ कह रए ते के कल पोचा देहे। इन ओरन ने तो हमे बताई तक नइया हमाय ते एक ओरत पोची मशुरपूरा की वाने बताई के तुमाई गायत्री ने डाई पी लयी।
गायत्री के ससुर छत्रपाल सिंह ने बताई के डाई पी लई बाने बाको दिमाग ख़राब हतो सो। लड़ाई कछु नई हती घर में।
मनलाल सिंह चचिया ससुर ने बताई के लड़ाई कछु नई हती घर में अब एसी तनक मनक तो होत ही रत पति पत्नी में।
विनोद सिंह एस ओ ने बताई के जा केश में मायके वालेन ने सास ससुर और पति के नाम रिपोर्ट दर्ज कराई हे जी में दहेज पता की धरा लगी हे।

रिपोर्टर- सरोज और सुरेखा राजपूत 

20/09/2016 को प्रकाशित