महोबा के कुलपहाड़ में इस गर्मी बिजली कटौती कुछ ज्यादा ही हो रही है, रोज़ा मुश्किल से कट रहा है

जिला महोबा, क़स्बा कुलपहाड़ बिजली समय से आबे चाह नइ आबे लेकिन बिजली को बिल समय से जरुर आ जात। महोबा जिला के कुलपहाड़ कस्बा में लगभग आठ महीना से बिजली नियमित रूप से नइ मिल रई। एक तो बिजली बोहतई कम आत और आत भी हे तो बोल्टेज कम आत।
बिजली के बिना आदमियन को पानी तक नइ मिल पा रओ। रमजान को महीना आ गओ एसे में रोजेदारन को पंखा और पानी की जरुरत हे। अगर बिजली नइ आहे तो रोजेदारन को बुरो हाल हो जेहे। गर्मी को पारा छोटी पे हे और गर्मी से आदमी बेहाल हे।
सरकार ने अठारह से बीस घंटा बिजली देबे को वादा करो तो लेकिन बिजली को दूर दूर तक कोनऊ अतो पतो नइया। पहले तो मट्टी के तेल से लालटेन जला लई जात ती लेकिन अब सरकार ने मट्टी को तेल भी बंद कर दओ।
मदन सिंह ने बताई के बोल्टेज एक डिम आ रओ और कटौती हो रई कम से कम दिन में दस बार कटौती होत। पिछली साल बोहतई अच्छी लाइट हती। बिजली की कटौती को कारन बिजली घर की लापरवाही हे। पूरी लाइन बेकार हे तनक सी हवा चल जात तो रात भर के लाने बिजली गोल हो जात।
हाफिज मोहम्मद ने बताई के रमजान को महीना हे जा में पूरे दिन आदमी भूखो प्यासों रत बाय ठंडक की जरुरत होत। पूरे रमजान पानी और बिजली की व्यवस्था अच्छी होने चाहिए।
नंनु सिंह अधिशाषी अभियंता ने कोई भी जानकारी बताबे से मना कर दई।

रिपोर्टर- श्यामकली

Published on Jun 5, 2017