महीने भर में हुआ खबर लहरिया की खबर का असर, महोबा जिले में हुई चकबंदी

जिला महोबा, क़स्बा कुलपहाड़  ग्रामीण क्षेत्र में आदमियन की चकबंदी नाप नइ हो रई ती जा खबर खबर लहरिया ने एक महीना पहले कबर करी ती जीको असर अब भओ। आदमियन को केबो हे के खबर लहरिया की पत्रकार की मेहनत और लगन से जो काम पूरो और कम समय में भओ। किसान अपने अपने चक्क पा के बोहतई खुश हे।जिला महोबा, क़स्बा कुलपहाड़  ग्रामीण क्षेत्र में आदमियन की चकबंदी नाप नइ हो रई ती जा खबर खबर लहरिया ने एक महीना पहले कबर करी ती जीको असर अब भओ। आदमियन को केबो हे के खबर लहरिया की पत्रकार की मेहनत और लगन से जो काम पूरो और कम समय में भओ। किसान अपने अपने चक्क पा के बोहतई खुश हे। दूरजा ने बताई के खबर को असर भओ  जीसे हम ओरन के चक हमे मिल गये। नइ तो आदमी हल्ला मचा रए ते के हमाय में आ जाबे हमाय में आ जाबे। फिर खबर करी जब फिर सही नाप भई हमाई बोरिंग तो दूसरे आदमी अपने में करबाबो चाह रए ते लेकिन अब सब मिल गओ। महेंद्र ने बताई के जो नाप में गड़बड़ी चल रई ती जीसे सब किसान नाराज हते। लेकिन खबर लहरिया की पत्रकार की मेहनत और  लगन से जो काम भओ। पत्रकार हर खेत में जाके नाप करबे वाली टीम से मिली फिर टीम ने सोची के हमाय पीछे मीडिया हे तो बासे क़ानून गो और लेखपाल पे असर परो। देवादीन ने बताई के आदमियन के जो घर कुआं पेड़ दर्ज नइ हते नक्शा में अब बे सब दर्ज हो गये श्री रामचन्द्र कानून गो ने बताई के जिन चक दारन को चक्क नाप करके दे दए गये अब बे अपने अपने चक पे कब्ज़ा करे जी से कोनऊ विवाद न होबे।

रिपोर्टर- श्यामकली

इस खबर की पहली रिपोर्टिंग देखने के लिए यहाँ क्लिक करे…

21/06/2017 को प्रकाशित