महिला हिंसा और उत्पीड़न के विरोध में रैली

62832_593419187376966_575552195_nजिला लखनऊ। महिला हिंसा और उत्पीड़न के विरोध में महिला संगठनों ने राजभवन तक 18 जुलाई दिन बृहस्पतिवार को निकाली रैली। हमसफर संस्था की सुधा ने बताया कि राज्य में महिलाओं और बच्चियों पर हो रहे अत्याचार को लेकर हम सबने परिवर्तन चैक से गवर्नर हाउस तक ग्यारह बजे से दो बजे तक धरना दिया। हर एक के जबान पर बस एक ही बात थी महिला हिंसा के लिए सरकार कुछ नहीं कर रहीं है। महिला हिंसा के नाम पर सरकार जीरो है। इसलिए इस सरकार को हटाया जाए। हम लोग राज्यपाल से मिलने गये थे। पुलिस ने इतनी सारी महिलाओं को देखकर सड़क पर बैरीकेडिंग लगातार रैली को रोकने की कोशिश भी की लेकिन महिलाओं का गुस्सा तो सातवें आसमान पर था। और वो बैरीकेडिंग को तोड़ते धकेलती हुई राजभवन पहुंची और वहां चक्का जाम लगा दिया।
हमसफर संस्था की सुधा ने बताया कि हम लोग तो सीधे राज्यपाल बी.एल. जोषी से मिलकर ज्ञापन देना चाहते थे लेकिन राज्यपाल के सचिव ने हमसे मिलकर ज्ञापन लिया। और कहा कि राज्यपाल से मिलने के लिए बुलाया जायेगा। आठ लोग को अन्दर बुलाया। बोले की अपना नम्बर दे दो हम दो दिन के अन्दर बुलायेगें लेकिन अभी तक कोई सूचना नहीं मिली धरना प्रदर्शन मा सनतकदा, आइपवा, आइड्वा, हमसफर, आली भारतीय महिला फेडरेशन जैसी कई संस्था की महिला  कार्यकर्ता शामिल थी। उत्तर-प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा इस समय चिंता का कारण बन गई है। पिछले कुछ हफतो में राज्य के अलग-अलग जिलों से नाबालिंग लड़कियों के साथ बलात्कार और महिलाओं के खिलाफ हिंसा चैंका देने वाली घटनाएं सामने आई हैं।