महिला विधायक के मंदिर प्रवेश पर हुआ विवाद, ‘गंगाजल’ से किया शुद्ध

साभार: विकिपीडिया

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में भाजपा विधायक के मंदिर में प्रवेश करने के बाद उसे ‘गंगाजल’ से साफ करने पर विवाद खड़ा हो गया है। एएनआई के मुताबिक, विधायक मनीषा अनुरागी 12 जुलाई को हमीरपुर में मंदिर में गईं थीं और उनके जाने के बाद मंदिर को ‘गंगाजल’ से शुद्ध किया गया था। इतना ही नहीं देवताओं की मूर्तियों को शुद्धिकरण के लिए इलाहाबाद भी भेजा गया था।

मामला सामने आने के बाद विधायक मनीषा अनुरागी ने कहा, ‘अगर ऐसी चीजें हुआ तो यह महिलाओं का अपमान है। यह कम अक्ल लोगों के काम हैं।’ वहीं, मनीषा अनुरागी के मंदिर में प्रवेश करने पर पुजारी का कहना है, ‘आज तक किसी महिला ने मंदिर में प्रवेश नहीं किया। जब मनीषा अनुरागी ने मंदिर में प्रवेश किया तो मैं वहां नहीं था वरना मैं उन्हें प्रवेश करने की इजाजत नहीं देता।’

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मनीषा अनुरागी 12 जुलाई को हमीरपुर के एक विद्यालय में ड्रेस बांटने के लिए गई थीं। ड्रेस वितरण के बाद वह कई महिलाओं के साथ पास ही मौजूद ध्रूम ऋषि के मंदिर में पहुंच गईं। मंदिर में उन्होंने माथा टेका और कुछ देर बाद चली गईं।हालांकि, उस दौरान तो कुछ नहीं हुआ लेकिन विधायक के वहां से जाने के बाद गांव वालों ने मंदिर को गंगाजल से शुद्ध कराया। बताया जा रहा है कि यहां के लोगों का मानना है कि  ध्रूम ऋषि मंदिर के अंदर महिलाओं और कन्याओं का जाना पुरातन काल से पूरी तरह मना है।