महिला डाक्टर बिना हुअत लापरवाही

tazaजिला फैजाबाद, ब्लाक तारून, गांव दादूंपुर। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मा प्राइवेट अस्पताल की तरह मांग कीन जाथै चाहे मरीज के पास पैसा रहै या नाय।
किरन बताइन कि 25 मार्च का हम प्रसव के समय गै रहेन तौ पहुंचतै बिना ए.एन.एम. के हाथ लगाये लड़की पैदा होय गै तबौ पैसा कै मांग कीन गै। लकिन हमरे सब दिहेन नाय। खाली साफ-सफाई कै पैसा दिया गै रहा। लकिन वहि दिन केहूं नई ए.एन.एम. रहिन।
सफाई करिन दुई दिन तक खून नाय बन्द भै रहा। बहुत हालत खराब होय गै रही। दुसरे दिन डाक्टर का बुलावा गै तब जाय के खून बन्द भै लकिन आशा कार्यकत्री कहियौ देखै तक नाय आइन। वहि अस्पताल मा बहुत गति कराथिन कुछ बोला तौ डांटाथिन।
आशा कार्यकत्री सुशीला बताइन कि वहि समय हमैं जानकारी नाय दिहिन नाही तौ हम तुरन्त लै जायित। बाद मा बताइन।
अधीक्षक डाक्टर अन्सार अली बताइन कि जवन समस्या हुअय मरीजन का शिकायत करै का चाही। फिर वकै जांच कै जाए।