महतारी बेटवा के होइगे मउत

इलाज न होइगे मउत
इलाज न होइगे मउत

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव सरहट, पुरवा सरबदा। हिंया के कल्लो के नौ महीना से गर्भवती रहै कल्लो का उल्टी टट्टी गे। या कारन मानिकपुर सरकारी अस्पताल लइगे तौ हुंवा के डाक्टर जानकी कुण्ड अस्पताल का रिफर कई दिहिस गरीब मड़ई के रूपिया न होय से वहिके 29 सितम्बर 2013 का मउत होइगे हवै ।
कल्लो का मनसवा हीरा बताइस कि मोर मेहरिया के दुई दिन उल्टी टट्टी आई। या कारन मानिकपुर सरकारी अस्पताल लइगे हवै, तौ दुइ घन्टा बाद डाक्टर देखिन। यहिके बाद जानकी कुण्ड का रिफर कर दिहिन हवैं। हम गरीब मड़ई आहीं हमरे लगे तुरतै गाड़ी करै का रूपिया न रहै यहै से मैं अपने मेहरिया का अस्पताल नहीं लई जा पायेंव। या कारन 29 सितम्बर 2013 का वहिके मउत होइगे हवै। सरकारी अस्पताल जाये से कउनौ फायदा नहीं आय। प्राइवेट अस्पताल मा होत तौ हमार बच्चा अउर मेहरिया के मउत न होत। डाक्टर देर मा देखत हवै। यहिके बाद रिफर कर देत हवै।
मानिकपुर अस्पताल के अध्ीाक्षक विनय कुमार का कहब हवै कि हमका कउनौ जानकारी नहीं आय। हमरे अस्पताल मा इनतान का कउनौ मरीज नहीं आवा आय।